बिहार

ठंड की चौतरफा मार झेल रहे बिहार के लोगों की लिए आई राहत भरी खबर

ठंड की चौतरफा मार झेल रहे बिहार के लोगों की लिए राहत भरी समाचार आई है मौसम में आज से बड़ा परिवर्तन होने की आसार है इस परिवर्तन से राहत मिलने की आशा है हवाओं का रुख बदलेगा और न्यूनतम तापमान में वृद्धि होगी उधर धूप निकलने से दिन के तापमान में वृद्धि जारी है कुहासे में भी कमी आनी शुरु हो गई है लेकिन यह बूरी समाचार यह है कि यह राहत मात्र कुछ दिनों के लिए है फरवरी के पहले सप्ताह में फिर से सर्द पछुआ हवा की मार शुरु हो जायेगी मौसम विज्ञान केंद्र के आंकड़े बताते हैं कि पिछले कई दिनों न्यूनतम तापमान सामान्य से दो से तीन डिग्री की गिरावट दर्ज की जा रही है

पश्चिमी विक्षोभ का क्या है हाल
मौसम विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक शैलेंद्र कुमार पटेल बताते हैं कि जनवरी की अंतिम दिनों में कई पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालयन क्षेत्रों में दस्तक दे रही है एक कमजोर पश्चिम विक्षोभ 26 जनवरी को ही प्रवेश कर गई थी अति तीव्रता वाला एक और पश्चिमी विक्षोभ आज, वहीं तीसरा 30 जनवरी को प्रवेश करेगा इसके साथ ही चौथा 3 फरवरी के इर्द-गिर्द आने की आसार है इस आधार पर यह बोला जा सकता है कि फरवरी की आरंभ पर्वतीय क्षेत्रों पर भारी बर्फबारी के साथ होगी साथ ही उत्तरी मैदानी क्षेत्रों पर वर्षा होने की आसार है

क्या पड़ेगा इसका असर
एक के बाद एक पश्चिमी विक्षोभ से हवा के रुख में परिवर्तन होता है और यह दक्षिण पूर्वी हो जाती है इस वजह से बिहार में न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी होगी लेकिन जब पर्वतीय इलाकों से पश्चिमी विक्षोभ आगे बढ़ जायेंगे तब फिर से पर्वतीय इलाकों से बर्फीली पछुआ हवाएं बिहार में प्रवेश करेंगी इसके फल स्वरूप 6 फरवरी के आस पास न्यूनतम तापमान में फिर से गिरावत आने की आसार है

क्या है पश्चिमी विक्षोभ
मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डाक्टर आशीष कुमार ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ एक तरह की आंधी है या हवा का कम दबाव है जो भूमध्यसागरीय क्षेत्र, यूरोप के अन्य भाग और अटलांटिक महासागर से उठता है इसमें कम दबाव के चलते हवा में डिस्टरबेंस होता है, जिससे मौसम में बड़े स्तर पर परिवर्तन होता है इस परिवर्तन का सीधा असर बारिश और बर्फबारी पर देखा जाता है

इससे पश्चिमी हिमालय क्षेत्रों में बर्फबारी या बारिश हो सकती है पहाड़ों से आने वाली हवाएं सर्द हो जायेगी और मैदानी इलाकों में लोगों को कनकनी का एहसास होगा इसको ठंड बढ़ने का बहुत बड़ा कारण भी बताया जा सकता है

आज कैसा रहेगा मौसम
आज से मौसम में परिवर्तन होने की आसार है अगले 4 दिनों के दौरान न्यूनतम एवं अधिकतम तापमान में 2-3 °C की क्रमिक वृ‌द्धि होने की आसार है साथ ही कुहासे में भी कमी हो सकती है आज बिहार के दक्षिणी हिस्सों में हल्के से मध्यम स्तर का कुहासा जारी है वहीं उत्तरी हिस्सों में घना कुहासा के बीच शीत दिवस जैसी स्थिती बनी हुई है आज पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, सीवान, सारण, सीतामढ़ी, शिवहर, समस्तीपुर, मुज़फ्फरपुर, वैशाली, मधुबनी, दरभंगा, सहरसा, मधेपुरा, पूर्णिया, कटिहार, अररिया और किशनगंज में घने कुहासे के बीच के बीच शीत दिवस जैसी स्थिती बनी हुई है

वहीं शेष जिलों में हल्के से मध्यम स्तर का कुहासा छाया हुआ है आज अधिकतम तापमान 16 से 20 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का पूर्वानुमान है वहीं न्यूनतम तापमान 08 से 10 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का पूर्वानुमान है

28 को कैसा का मौसम का हाल
मौसम विज्ञान केंद्र द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार मुज़फ्फरपुर, दरभंगा, छपरा और मोतीहारी में शीत दिवस वहीं पूर्णिया में भयंकर कोल्ड डे दर्ज किया गया 28 को सबसे सर्द रात सबौर में 3.8°C दर्ज किया गया वहीं पूरे बिहार का न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस के नीचे दर्ज किया गया बांका 4.6°C, मोतीहारी और किशनगंज में 5°C, शेखपुरा में 5.2°C, अगवानपुर में 5.7°C, जमुई और गया में 5.8°C, नवादा में 5.9°C दर्ज किया गया

दिन के मौसम की बात करें तो 28 को दिन का अधिकतम तापमान 24.5°C औरंगाबाद में दर्ज किया गया वहीं सबसे कम अधिकतम तापमान कैमूर में 12.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया अधिकतर जिलों का तापमान 18°C से अधिक ही दर्ज किया गया

Related Articles

Back to top button