Patna: इस बार गांधी मैदान में नहीं जलेगा रावण का पुतला, कोविड-19 के कारण यहां होगा रावण वध कार्यक्रम

Patna: इस बार गांधी मैदान में नहीं जलेगा रावण का पुतला, कोविड-19 के कारण यहां होगा रावण वध कार्यक्रम

पटना बिहार सहित देश भर में दुर्गा पूजा (Durga Puja) की धूम है मंदिरों से लेकर पंडालों तक में मां दुर्गा (Goddess Durga) की प्रतिमा बिठाई और सजाई जा रही है जिसका दर्शन करने के लिए भक्त पट खुलने का इन्तजार कर रहे हैं दुर्गा पूजा (Durga Pooja) का एक बड़ा आकर्षण विजयादशमी के दिन रावण वध का प्रोग्राम होता है हर वर्ष पटना (Patna) के ऐतिहासिक गांधी मैदान (Gandhi Maidan) में दशहरा कमिटी के तरफ से इसका आयोजन होता है लेकिन इस बार कोविड-19 संक्रमण (Corona Virus) की वजह से यह आयोजित नहीं किया जा रहा है हालांकि दशहरा कमिटी जिला प्रशासन से अनुमति लेकर कोविड नियमों का पालन करते हुए रावण वध प्रोग्राम का आयोजन कर रही है

दशहरा कमिटी के आयोजक कमल नोपानी ने न्यूज़ 18 को बताया कि कोविड 19 की वजह से गांधी मैदान में रावण वध का प्रोग्राम का आयोजन नहीं होगा लेकिन पटनावासी निराश न हों, हम लोगों ने इसकी व्यवस्था इस बार भी की है इस बार रावण वध प्रोग्राम का आयोजन कालिदास रंगालय में किया जाएगा जिसकी तैयारी लगभग पूरी हो गई है हालांकि रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतलों का आकार कम कर दिया गया है

रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतले का आकार छोटा किया गया

नोपानी ने बताया कि गांधी मैदान में जब रावण वध का आयोजन होता था तब रावण का पुतला लगभग 90 फीट का होता था, कुंभकर्ण 80 फीट और मेघनाद 70 फीट ऊंचा बनाया जाता था लेकिन इस बार रावण वध का प्रोग्राम कालिदास रंगालय के छोटे से मैदान में हो रहा है जहां दर्शकों को जाने की इजाजत नहीं होगी केवल दशहरा कमिटी के लोग और कलाकार रहेंगे इसलिए पुतलों का साइज छोटा कर दिया गया है

इस साल पुतला बनाने वाले बिहारी कलाकारों ने रावण का पुतला 15 फीट, कुंभकर्ण 13 फीट और मेघनाद का 12 फीट ऊंचा पुतला बनाया है इसके अतिरिक्त अलग से कोविड-19 वायरस का पुतला बनाया गया है जिसका साइज 10 फीट का है इन सभी पुतलों का दहन विजयादशमी के दिन होगा

जाहिर है इस साल जब रावण वध प्रोग्राम गांधी मैदान में नहीं हो रहा है, तो दर्शक इसका नजारा देख सकें इसके लिए खास व्यवस्था की गई है दशहरा कमिटी दर्शकों को घर बैठे रावण वध का प्रोग्राम दिखाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेगा जिसकी सूचना जल्द जारी की जाएगी  कमिटी ने यह भी जानकारी दी है कि कालिदास रंगालय के हॉल में रामलीला का आयोजन भी होगा यहां रामलीला देखने के लिए मात्र 150 पास बांटे जाएंगे


पटना: झड़प के बाद धनरुआ में दशा तनावपूर्ण, एसपी बोले- गोलियां कहां से और कितनी चलीं, हो रही जांच

पटना: झड़प के बाद धनरुआ में दशा तनावपूर्ण, एसपी बोले- गोलियां कहां से और कितनी चलीं, हो रही जांच

पटना  पटना के धनरुआ में पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प के बाद दशा तनावपूर्ण बना हुआ है इसको देखते हुए ग्रामीण एसपी ने पटना से अलावा पुलिस बल बुलाया है पटना से दो बसों में 50 से अधिक पुलिस के जवान धनरुआ पहुंचकर मोर्चा थाम लिया गांव के चारों तरफ पुलिस के जवानों को तैनात कर दिया गया है

ग्रामीण एसपी ने बताया कि इस झड़प में 16 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं  सभी पुलिसवालों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है एसपी ने बोला कि पुलिस गांव में जायजा लेने गई थी  पुलिस वहां कई बार रेड कर चुकी है चुनाव प्रचार के लिए भी लोग वहां जुटे हुए थे पुलिस और लोगो के बीच मिस अंडरस्टैंडिंग के कारण ये घटना घटी  लोगों को कुछ और बताया गया, इसलिए वे उग्र हो गये

एसपी ने बताया कि झड़प में घायल ग्रामीणों को उपचार के लिए PMCH भेजा गया है  सूचना मिली है एक आदमी की मृत्यु हुई है गोलियां कहां से और कितनी चली, इसकी जाँच हो रही है

झड़प में धनरुआ थानाप्रभारी का सिर फट गया है एक इंस्पेक्टर का पैर टूट गया है पुलिस और गांववालों के बीच गोलीबारी हुई है  दरअसल धनरूआ थानाक्षेत्र के मड़ियावा गांव में चुनाव प्रचार समाप्त होने के बाद भी प्रचार किया जा रहा था इसी सूचना पर पुलिस प्रचार रोकने के लिए गई थी इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस की टीम को घेर कर हमला कर दिया लोगों से स्वयं को बचाने के लिए पुलिस ने फायरिंग की इस झड़प में पुलिस के कई जवान जख्मी हो गये 3 ग्रामीणों को गोली लगी है