बिहार

बिहार के रंजन कुमार की बनाई शॉर्ट फिल्म “चंपारण मटन” अब देखेंगे चीन के लोग

बिहार के रंजन कुमार की बनाई शॉर्ट फिल्म “चंपारण मटन” अब चीन के लोग भी देखेंगे यह फिल्म 22 वें अंतर्राष्ट्रीय विद्यार्थी फिल्म और वीडियो फेस्टिवल (ISFVF)के लिए शॉर्टलिस्ट हो गई है इसके पहले इस फिल्म को ऑस्कर स्टूडेंट एकेडमी की सेमीफाइनल में शामिल किया जा चुका है इसके बाद इस फिल्म को राष्ट्र ही नहीं पूरी दुनिया देखेगी

 

95 राष्ट्रों के 77 कार्यों में चंपारण मटन हुई शॉर्टलिस्ट

इस बार 22 वें तरराष्ट्रीय विद्यार्थी फिल्म और वीडियो फेस्टिवल के लिए 95 राष्ट्रों से कुल 2360 कार्यों की चयन की गई इसके बाद 40 प्रारंभिक न्यायाधीशों ने समीक्षा कर 77 उत्कृष्ट कार्यों को इस वर्ष के ISFVF के लिए शॉर्टलिस्ट किया यह फेस्टिवल बीजिंग फिल्म अकादेमी में 17 से 24 नवंबर तक आयोजित होगी यहां बिहार के कलाकारों से सजी चंपारण मटन की स्क्रीनिंग की जाएगी सभी चयनित कार्यों को करने वालों को वहां मौजूद होना होगा

मुख्य किरदार में हैं चंदन राय

फिल्म को बिहार के रहने वाले रंजन कुमार ने बनाया है वहीं फिल्म में हाजीपुर के रहने वाले चंदन राय मुख्य किरदार में हैं पुणे में उन्होंने यह फिल्म बनाई है फिल्म के डायरेक्टर रंजन बताते हैं कि यह सब FTII की जर्नी का परिणाम है वहां राइटिंग और डायरेक्शन की पढ़ाई हुई है उन सब का आउटपुट इस फिल्म में दिख रहा है इसलिए इस फिल्म को अब ISFVF के लिए चयन किया गया है

चंपारण मटन में दिखता हैं बिहार का हर रंग

वहीं फिल्म के बारे में रंजन ने कहा कि मेरा बचपन पूरा चंपारण में बीता है मेरे अंदर बिहार है मैं जो भी कहानी लिखता हूं तो कहीं ना कहीं उसके भीतर बिहार आता है”चंपारण मटन” फिल्म में भी मेरी बिहार की यात्रा दिखती है इसके लिए सबसे पहले मैंने कहानी लिखी मुझे जब फाइनल फिल्म लिखने के लिए दिया गया, तब मैंने फिर ये चंपारण मटन की कहानी लिखी इसमें पूरा बिहार का हर रंग दिखता है बहुत हास्य, व्यंग और हर चीज मिलाकर इसको एक अच्छी कहानी बनाई गई है

आने वाली फिल्म होगी बिहारी भाषा में

फिलहाल रंजन कुमार मुंबई में रहकर अपनी अगली फिल्म की तैयारी कर रहे है फिल्म के बारे में अधिक कुछ ना बताते हुए बोला की बस इतना जान लीजिए की आने वाली फिल्म बिहारी भाषा में होगी

 

Related Articles

Back to top button