बिहारलेटैस्ट न्यूज़

NCRB के सरकारी आंकड़े चीख-चीखकर गठबंधन सरकार के जंगलराज की दे रहे गवाही :दीपेन्द्र हुड्डा

चंडीगढ़ सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने प्रदेश की ध्वस्त हो चुकी कानून प्रबंध पर गहरी चिंता जताते हुए बोला कि NCRB के सरकारी आंकड़े चीख-चीखकर गठबंधन गवर्नमेंट के जंगलराज की गवाही दे रहे हैं हरियाणा की कानून-व्यवस्था यूपी, बिहार से भी बदतर हालत में पहुंच गई है क्रिमिनल इस कदर बेखौफ हैं कि दिन-दहाड़े होने वाली घटना के मुद्दे में हरियाणा राष्ट्र में दूसरे नंबर पर है केवल एक वर्ष के भीतर स्त्रियों के विरूद्ध क्राइम के 16,743 मुद्दे यानी रोज़ 46 मुद्दे सामने आए एक वर्ष के भीतर दुष्कर्म के 1,787 मुकदमा यानी रोज़ 5 बेटियों की अस्मत लूटने के मुद्दे दर्ज हुए एक वर्ष के भीतर मां-बाप के जिगर के टुकड़े 2640 बच्चे लापता हो गए, जिनमें 1124 लड़के और 1516 लड़कियां हैं राज्य में साइबर क्राइम में भी वृद्धि हुई है
दीपेन्द्र हुड्डा ने हाल ही में जारी एनसीआरबी रिपोर्ट के आंकड़ों का हवाला देते हुए बोला कि राष्ट्र में समग्र रूप से क्राइम घटा है, लेकिन हरियाणा में क्राइम तेजी से बढ़ा है प्रदेश में कानून-व्यवस्था लचर होने और बेरोजगारी में तेजी से वृद्धि के कारण ही विशेष तौर पर स्त्रियों और कमजोर तबकों के विरुद्ध क्राइम में वृद्धि हो रही है हत्या, रेप, चोरी, फिरौती, लूट, डकैती आम हरियाणवी की दिनचर्या का हिस्सा बन गए हैं NCRB के आंकड़े बताते हैं कि BJP-JJP ने कानून-व्यवस्था का दिवालिया पीट दिया है
उन्होंने कहाकि बढ़ते क्राइम का कारण बेरोजगारी, करप्शन और नशाखोरी है आज हमारे नौजवान बेरोजगारी से हताशा में, हताशा से नशा और नशे से क्राइम के चंगुल में फंस रहे हैं क्राइम और नशे का मूल कारण बेरोजगारी है
सांसद दीपेन्द्र ने आगे बोला कि हुड्डा गवर्नमेंट के समय अपराधियों में क़ानून का खौफ था, आज लोग क्राइम और अपराधियों से खौफजदा हैं
पिछले महीनों में सीएम मनोहरलाल खट्टर ने स्वयं गैर-जिम्मेदाराना बयान देकर क्राइम और अपराधियों के सामने सरेंडर कर दिया था कि गवर्नमेंट हर आदमी को सुरक्षा नहीं दे सकती और ये बोलना कि लट्ठ उठा लो, कारावास जाने से मत डरो, नेता बनकर निकलोगे जब प्रदेश का मुखिया ही ऐसी बयानबाजी कर रहा हो जिससे अपराधियों का हौसला बढ़े तो फिर क्राइम कैसे रुकेंगे
दीपेन्द्र हुड्डा ने आगे बोला कि हरियाणा में हर मां-बाप इस बात से चिंतित हैं कि उनकी बेटी जो पढ़ने-लिखने या काम पर जाती है वो शाम को सुरक्षित घर लौटेगी या नहीं क्योंकि हरियाणा में स्त्री सुरक्षा के अनेक खोखले दावों के उल्टा स्त्रियों के विरुद्ध क्राइम रेट लगातार वृद्धि हो रही है राज्य में एक वर्ष के भीतर गायब हुई 49 फीसदी लड़कियां घर ही नहीं पहुंची दीपेंद्र हुड्डा ने बोला कि उनका संकल्प है कि हरियाणा को दोबारा सुरक्षित, विकसित और खुशहाल प्रदेश बनाने के लिए हर जंग लड़ेंगे

 

Related Articles

Back to top button