बिहार

बिहार के चार जिलों में झमाझम बरसेंगे बादल, तापमान में गिरावट दर्ज

बिहार में बारिश को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है रोहतास, कैमूर, बांका और गया में भारी बारिश की चेतावनी है वर्ष 2023 में मानसून कमजोर है इसके बावजूद राज्य में बारिश की गतिविधी बनी हुई है बारिश के साथ बादलों की आवाजाही हो रही है साथ ही नमी के कारण उमस की स्थिति बनी हुई है कई इलाकों में लोग उमस भरी गर्मी से परेशान है 19 जिलों में मामूली वर्षा की आसार है राज्य के उत्तर- पश्चिम और दक्षिण-पश्चिम भाग में बूंदाबांदी का पूर्वानुमान है राजधानी पटना में लगातार बादलों की आवाजाही हो रही है

नौ से 11 सितंबर के बीच आसमान में छाए रहेंगे बादल

राज्य के कई जिले में दिनभर कभी धूप, तो छांव जैसी स्थिति बनी | बादलों की आवाजाही के बीच तेज गति से पूर्वा हवा भी चलती रही धूप निकलने के बाद जहां लोगों को गर्मी और उमस का अहसास हो रहा है, वहीं बादल छाने के बाद गर्मी से राहत मिल रही है भागलपुर जिले का अधिकतम तापमान 34.4 डिग्री और न्यूनतम तापमान 24 डिग्री रहा कहीं-कहीं 3.4 मिलीमीटर मामूली बारिश भी हुई बीएयू सबौर के ग्रामीण कृषि मौसम सेवा के नोडल पदाधिकारी चिकित्सक सुनील कुमार ने कहा कि नौ से 11 सितंबर के बीच भागलपुर में आसमान में हल्के बादल छाये रहेंगे इस दौरान मामूली से मध्यम बारिश हो सकती है इस दौरान पूर्वा हवा चलने की आसार है हवा की औसत गति पांच से नौ किलोमीटर प्रतिघंटे रह सकती है तापमान सामान्य बना रह सकता है, उमस भी रहेगा किसान इस दौरान फसलों की सिंचाई रोक सकते हैं

नौ और दस सितंबर को बारिश का अलर्ट

मौसम का मिजाज हाल के दिनों में 12 से 24 घंटे में बदल रहा है चिलचिलाती धूप के बीच ही कुछ देर में घने काले बादल और बारिश की स्थिति बन जाती है गुरुवार को भी दिनभर चिलचिलाती धूप और गर्मी झेलने के बाद देर शाम तेज बारिश हुई इससे लोगों को काफी हद तक गर्मी और उमस से राहत मिली माैसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक अगले तीन दिनों तक मौसम की यही स्थिति बनी रहेगी नौ और दस सितंबर को उत्तर बिहार के जिलों में अधिक बारिश की आसार जतायी गयी है मौसम विभाग के रिकॉर्ड के मुताबिक अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया वहीं न्यूनतम तापमान 23.6 डिग्री सेल्सियस रहा

ठनका से बचने के लिए एप डाउनलोड करने की अपील

पूर्वी चंपारण, सारण, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, गोपालगंज और सीवान में ठनका को लेकर अलर्ट है राज्य के कई जिलों में ठनका को लेकर अलर्ट है आपदा प्रबंधन विभाग ने लोगों से अपील किया है कि वह इंद्रवज्र एप को मोबाइल में डाउनलोड करें, ताकि उनके साथ अन्य लोगों का भी बचाव ठनका से हो सके हाल के दिनों में ठनका से बढ़ी मृत्यु के बाद दोबारा से एप को लोड करने के लिए प्रचार-प्रसार तेज किया गया है ताकि, कम -से -कम लोगों की मृत्यु ठनका गिरने से हो और लोग ठनका गिरने से पूर्व में अलर्ट हो जाये विभाग के अनुसार एप अपलोड करने से लोगों को ठनका गिरने से पूर्व उसकी जानकारी मिल जाती है और लोगों के माेबाइल पर अलर्ट बेल बज जाता है एप से आसपास के दस किलोमीटर तक ठनका की जानकारी मिल पाती है यह एप सबसे अधिक खेतों में काम करने वाले लोगों को बचाने में योगदान करेगा

जलजमाव से लोगों की बढ़ी परेशानी

वहीं, भारी बारिश के कुछ दिनों बाद भी पटना के मोहल्ले में जलजमाव की स्थिति है दानापुर में नगर परिषद के क्षेत्र के वार्ड 38 के गोला रोड बैंक कॉलोनी लेन नंबर दस में महीनों से सड़क पर जलजमाव से परेशान काॅलोनी के लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया लोगों का इल्जाम है कि बारिश का पानी महीनों से सड़कों पर जमा है प्रदर्शनकारियों ने बोला कि नगर परिषद के पूर्व मुख्य पार्षद के वार्ड के बैंक काॅलोनी लेन दस में जलजमाव के कारण आम लोग के साथ स्कूली बच्चों को भारी कठिनाई झेलनी पड़ रही है सड़क पर घुटने भर जल जमाव से संक्रामक रोग फैलने की संभावना बनी है जल निकासी की प्रबंध नहीं होने के कारण बीच सड़क में जलजमाव लगा हुआ है कहा जाता है कि काॅलोनी में जल निकासी के लिए नाला निर्माण नहीं किये जाने से काॅलोनी में जलजमाव है मोटर पंप से जल निकासी की जा रही है वहीं, आगे भी बारिश को लेकर अलर्ट है

Related Articles

Back to top button