बिहारलेटैस्ट न्यूज़

पटना में हुआ भारत के सबसे बड़े ऑनलाइन परीक्षण केंद्र का उद्घाटन

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पटना शहर के कुम्हरार में 261 करोड़ की लागत से बने राष्ट्र के सबसे बड़े परीक्षा केंद्रों में से एक ‘बापू परकिशा परिसर’ (बापू परीक्षा परिसर) का उद्घाटन किया इस परीक्षा भवन में 16 हजार से अधिक अभ्यर्थी ऑफलाइन और औनलाइन परीक्षा दे सकते हैं

एक साथ 13048 अभ्यर्थी दे सकेंगे परीक्षा

इस परीक्षा भवन में जहां 13048 अभ्यर्थी ऑफलाइन परीक्षा दे सकेंगे, वहीं 3584 अभ्यर्थी एक साथ औनलाइन परीक्षा दे सकेंगे परीक्षा परिसर में वर्तमान में दो पांच मंजिला ब्लॉक हैं जल्द ही तीसरे का निर्माण होने की आशा है, जिससे बैठने की क्षमता बढ़कर 20,000 हो जाएगी

Bapu Exam Complex: बोर्ड और प्रतियोगी परीक्षाओं की सुविधा

पटना के इस परीक्षा केंद्र में बीएसईबी मैट्रिक और इंटर के अतिरिक्त अन्य प्रतियोगी परीक्षाएं भी आयोजित की जाएंगी अभी ए और बी टावर बन चुके हैं तीसरा टावर यानी ब्लॉक सी बनाने की भी योजना है बापू परीक्षा परिसर में सेंसर के जरिए लाइट ऑन-ऑफ करने की सुविधा है उदाहरण के तौर पर यदि कोई परीक्षा केंद्र के हॉल में प्रवेश करता है तो लाइट अपने आप चालू हो जाएगी जैसे ही आदमी कमरे से बाहर निकलेगा लाइट बंद हो जाएगी बिजली की बर्बादी रोकने के लिए यह सुविधा दी गई है

परीक्षा केंद्र जरूरी सुविधाओं और एस्केलेटर से सुसज्जित

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, 5 मंजिल का परीक्षा केंद्र सुविधाजनक पहुंच के लिए एस्केलेटर से सुसज्जित है यह इमारत सौर ऊर्जा का इस्तेमाल करने के लिए सौर पैनलों से भी सुसज्जित है इसके अलावा, यह सुनिश्चित करने के लिए प्रावधान किए गए हैं कि परीक्षा में शामिल होने वाले उम्मीदवारों को पीने का पानी और जरूरी सुविधाएं मौजूद हों सीएम ने निकट भविष्य में 29 जिलों में परीक्षा भवन स्थापित करने की योजना की भी घोषणा की

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) के लिए एकीकृत मंच

इन पहलों के अलावा, बिहार विद्यालय परीक्षा बोर्ड की सभी सेवाओं के लिए एक एकीकृत मंच स्थापित करने की भी योजना है भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) पर आधारित एक औनलाइन संबद्धता और निरीक्षण प्रणाली, इंटरमीडिएट और मैट्रिक स्तर की शिक्षा प्रदान करने वाले विद्यालयों के लिए लागू की जाएगी इसके अलावा, फॉर्म भरने और डेटा सैनिटाइजेशन के लिए एक कृत्रिम बुद्धिमत्ता-संचालित प्रक्रिया को सभी बीएसईबी परीक्षाओं में एकीकृत किया जाएगा एक व्यापक ट्रैकिंग प्रणाली के माध्यम से उन्नत परीक्षा नज़र की भी सुविधा होगी

बापू परीक्षा परिसर के उद्घाटन के अवसर पर कौन मौजूद थे?

इस अवसर पर शिक्षा मंत्री डाक्टर चन्द्रशेखर, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, बिहार के मुख्य सचिव आमिर सुबहानी, अपर मुख्य सचिव के सिद्धार्थ, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर, प्रमंडलीय आयुक्त कुमार रवि सहित विभिन्न विभागों के कई पदाधिकारी मौजूद थे बापू परीक्षा परिसर के उद्घाटन से पहले सीएम ने परिसर में पौधारोपण भी किया

इंजीनियरिंग- मेडिकल की निःशुल्क कोचिंग

मुख्यमंत्री ने बिहार बोर्ड के मेधावी विद्यार्थियों के लिए इंजीनियरिंग एवं मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिए नि:शुल्क कोचिंग की भी आरंभ की बिहार विद्यालय परीक्षा बोर्ड द्वारा पटना प्रमंडल में मुफ़्त आवासीय कोचिंग और शेष आठ प्रमंडलीय मुख्यालयों में मुफ़्त गैर आवासीय कोचिंग कार्यक्रम की आरंभ की गयी

हर दिन हो सकेगी परीक्षा

मुख्यमंत्री ने बोला कि इस भवन में प्रत्येक दिन परीक्षा हो सकती है हमारी ख़्वाहिश के मुताबिक यहां पर भवन बन गया है, इससे मुझे खुशी है हमने ही बोला था कि इस भवन का नामकरण बापू के नाम पर कीजिए बापू के नाम पर ही इसका नामकरण बापू परीक्षा परिसर किया गया है, यह बहुत खुशी की बात है इस अवसर पर सीएम ने रिमोट के माध्यम से बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की विभिन्न योजनाओं का भी शुरुआत किया बापू परीक्षा परिसर का निर्माण परीक्षा प्रबंध को और उत्कृष्ट बनाने के लिए किया गया है आधुनिक सुविधाओं से युक्त इस परीक्षा केंद्र में ऐसी प्रबंध की गई है कि विभिन्न परीक्षाओं के संचालन में किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो

दूसरे चरण में राज्य के 29 जिलों में परीक्षा भवन और 38 जिलों में वज्रगृह की होगी स्थापना

मुख्यमंत्री ने दूसरे चरण की कार्य योजना की आरंभ की दूसरे चरण के सुधारों की कार्य योजना के अनुसार राज्य के शेष सभी 29 जिलों में परीक्षा भवनों की स्थापना और राज्य के सभी 38 जिलों में वज्रगृहों की स्थापना की जाएगी राज्य के सभी नौ प्रमंडलों में कंप्यूटर आधारित परीक्षा के लिए औनलाइन परीक्षा केंद्रों-सह- कंप्यूटर प्रशिक्षण केंद्रों की स्थापना की जायेगी राज्य के सभी मैट्रिक एवं इंटर शिक्षण संस्थानों में प्रति माह एसेसमेंट सिस्टम की आरंभ होगी साथ ही राज्य के सभी इंटर एवं मैट्रिक शिक्षण संस्थानों में लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम की भी स्थापना की जायेगी

सिंगल विंडो सिस्टम की होगी व्यवस्था

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की सभी प्रकार की सेवाओं के लिए सिंगल विंडो सिस्टम की प्रबंध की जायेगी नये इंटर एवं मैट्रिक स्तरीय शिक्षण संस्थानों के लिए जीआईएस बेस्ड औनलाइन एफलिएशन एंड इंस्पेक्शन सिस्टम की प्रबंध होगी साथ ही बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की सभी परीक्षाओं में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस आधारित फॉर्म भरने की प्रक्रिया एवं आर्टिफिशियल बेस्ड डेटा सैनिटाइजेशन की प्रबंध होगी बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की सभी परीक्षाओं में आरएफआईडी बेस्ड सिक्यूरिटी एवं ट्रैकिंग सिस्टम की प्रबंध होगी

Related Articles

Back to top button