CM नीतीश के विधायक ने कहा- जिला परिषद अध्यक्ष बनने के‍ लिए लड़ रहे चुनाव

CM नीतीश के विधायक ने कहा- जिला परिषद अध्यक्ष बनने के‍ लिए लड़ रहे चुनाव

बिहार के जदयू विधायक गोपाल मंडल एक बार फ‍िर चर्चा में आ गए हैं। उन्‍होंने अपनी पत्‍नी को जिला परिषद सीट के लिए मैदान में उतार है। लेकिन उनका कहना है कि उनकी पत्‍नी यह चुनाव जिला परिषद अध्‍यक्ष बनने के लिए लड़ रही हैं। ताकि जिले का विकास किया जा सके। इस बीच उनकी पत्‍नी पर आचार संहिता उल्‍लंघन का भी मामला दर्ज हो गया है। 

गोपालपुर के जदयू विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल की पत्नी सविता देवी पर एसडीओ यतेंद्र कुमार पाल ने आचार संहिता के उल्लंघन की प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है। बताया गया कि 23 नवंबर को अनुमंडल कार्यालय में नामांकन के दौरान विधि-व्यवस्था के लिए दंडाधिकारी के रूप में नगर परिषद नवगछिया के प्रबंधक अजहर आलम तैनात थे।

इसी दौरान जिला परिषद पद पर नामांकन के लिए विधायक की पत्नी सविता देवी पहुंची। उनके साथ विधायक और प्रस्तावक समेत दो सौ समर्थक अनावश्यक रूप से गेट के अंदर प्रवेश करने लगे। दंडाधिकारी ने रोकने का प्रयास किया पर आदेश की अवहेलना करते हुए समर्थक आगे बढ़ते रहे। काफी मशक्कत के पश्चात समर्थकों को गेट से बाहर निकाला गया। इसको लेकर दंडाधिकारी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

विधायक की पत्नी ने जिला परिषद पद के लिए कराया नामंकन

इससे पहले मंगलवार को गोपालपुर विधान सभा के विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल की पत्नी ने इस्माइलपुर प्रखंड के जिला परिषद पद के लिए अनुमंडल कार्यलय नवगछिया में नामांकन करवाया था।

जिला परिषद अध्यक्ष बनने के लिए लड़ रहे हैं

गोपालपुर विधान सभा के विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल ने कहा कि चुनाव केवल जिला परिषद बनने के लिए नहीं लड़ रहे हैं। उनकी पत्‍नी यह चुनाव जिला परिषद अध्यक्ष बनने के लिए लड़ रहे हैं। कहा कि वे चुनाव भारी मतों से विजयी होंगी। भागलपुर का विकास करना बहुत जरूरी है। इसलिए उन्‍हें चुनाव लड़ाया जा रहा है।


बिहार के हेल्थ सेंटर में RT-PCR जांच कराने वालों में मोदी-शाह का नाम, लिस्ट में सोनिया गांधी और कटरीना भी

बिहार के हेल्थ सेंटर में RT-PCR जांच कराने वालों में मोदी-शाह का नाम, लिस्ट में सोनिया गांधी और कटरीना भी

बिहार के अरवल जिले में कोरोना टेस्ट में फर्जीवाड़ा सामने आया है। यहां के करपी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, कांग्रेस नेता सोनिया गांधी, बॉलीवुड एक्टर प्रियंका चोपड़ा की कोरोना जांच कर दी गई है।

यह खुलासा तब हुआ जब स्वास्थ्य विभाग की एक टीम ने घर-घर जाकर सर्वे किया। बताया जा रहा है कि करपी CHC में मिले रैपिड एंटीजन टेस्ट किट से जांच के नाम पर सैकड़ों लोगों का नाम फर्जी तरीके से डाल दिया गया है। इनके नाम और मोबाइल नंबर पूरी तरीके से गलत हैं।

वहीं, 27 अक्टूबर को RT-PCR जांच के नाम पर कई बड़े दिग्गजों का नाम शामिल कर दिया गया है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह, सोनिया गांधी का नाम अहम हैं।

DM बोलीं- जांच के बाद करेंगे FIR
कोरोना टेस्टिंग में प्रियंका चोपड़ा के अलावा कटरीना कैफ, ऐश्वर्या राय समेत कई फिल्मी कलाकारों का नाम भी शामिल हैं। इस मामले में स्वास्थ्य विभाग का कोई भी अधिकारी कुछ भी कहने से सीधे तौर पर बच रहा है। अरवल DM प्रियदर्शनी का कहना है, 'पूरा मामला बहुत ही संगीन है। हम इसकी जांच कर रहे हैं और जांच के बाद FIR भी करेंगे। MOIC से लेकर BHM तक सभी से पूछताछ करेंगे।'

PM के जन्मदिन पर दिया गया था निर्देश
PM मोदी के जन्म दिवस पर स्वास्थ्य विभाग ने सभी स्वास्थ्य केंद्रों को वैक्सीनेशन के साथ-साथ कोरोना टेस्टिंग का टारगेट दिया था। इसके बाद कई जगहों पर रिकार्ड तोड़ जांच और वैक्सीनेशन हुआ। अरवल में स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना टेस्टिंग में फर्जी तरीके से लोगों का नाम डालकर टारगेट पूरा किया है।

फर्जीवाड़ा इस कदर किया गया कि फर्जी नामों में राजनीतिक और फिल्मी कलाकारों के मोबाइल नंबर भी लिखे गए, जिनके घर का पता करपी प्रखंड के पुराण गांव में है। PM मोदी का नाम और पता करपी के दो अलग-अलग गांव में दिया गया है। वहीं, फिल्मी कलाकार प्रियंका चोपड़ा का निवास स्थान और मोबाइल नंबर भी गलत है।