पटना JDU कार्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं का हंगामा

पटना JDU कार्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं का हंगामा

बक्सर में जदयू के जिला अध्यक्ष पद के लिए हुए चुनाव में अशोक सिंह निर्वाचित हुए. चुनाव भी समापन करा लिया गया, लेकिन तब अशोक सिंह के विरूद्ध मैदान में उतरे पार्टी के दूसरे उम्मीदवार ने गड़बड़ी का आरोप लगाया था. इन सब के बावजूद भी अशोक सिंह को निर्वाचित घोषित कर दिया गया, लेकिन राज्य निर्वाचन पदाधिकारी की तरफ से जारी लिस्ट में उनका नाम गायब हो गया. इसका नतीजा यह हुआ कि जिला अध्यक्षों की लिस्ट को देखकर अशोक सिंह और उनके समर्थक दंग रह गए. वहीं बक्सर से पटना पहुंचे अशोक सिंह और उनके समर्थक जेडीयू प्रदेश कार्यालय में धरने पर बैठ गए.

प्रदेश कार्यालय में धरने पर बैठे JDU कार्यकर्ता

लिस्ट में गड़बड़ी का आरोप

वहीं जदयू के जिला अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव के लिस्ट में गड़बड़ी को लेकर पटना स्थित जेडीयू कार्यालय के बाहर भारी हंगामा हुआ. प्रदेश कार्यालय में बक्सर से आए अनेक जदयू के कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए हैं. इनका आरोप है कि हमने जिला अध्यक्ष में रूप में जीत किसी और को दिलाई थी, लेकिन पार्टी कार्यालय से जो चिट्ठी जारी की गई है उसमे नाम गलत प्रकाशित हो गया है.कार्यकर्ताओं का बोलना है की बक्सर जिले से अशोक सिंह को हमलोगो ने जीत दिलाई थी, लेकिन आधिकारिक रूप से राज कुमार शर्मा का नाम सामने आया है. जब तक कोई वरीय पदाधिकारी हमसे बात नहीं करेंगे तब तक हम धरने पर ही बैठे रहेंगे और जिस तरह से बिहार के लोगों को न्याय मिला है, उसी तरह हम लोगों को भी न्याय चाहिए. हम लोग नीतीश कुमार के ही सिपाही हैं और न्याय के लिए हमारी लड़ाई जारी रहेगी.

70 लाख लोगों को बनाया पार्टी मेंबर

आपको बता दें कि राज्य निर्वाचन पदाधिकारी की तरफ से जिला अध्यक्षों की पूरी लिस्ट जारी की गई, जिसमें जेडीयू के 51 संगठन जिलों में से चार जिला नगर अध्यक्ष और चार जिला अध्यक्षों के चुनाव को स्थगित किया गया. वहीं शेष 42 क्षेत्रों में निर्वाचन कार्य समापन हुआ है. बताया यह भी जा रहा है कि कार्यकर्ताओं ने पिछले दो महीने में करीब 70 लाख लोगों को पार्टी में मेंबर बनाया है. यह 2019 की तुलना में करीब 30 लाख से भी अधिक है. प्रदेश अध्यक्ष के चुनाव से पहले करीब 51 संगठनों जिला में से 42 नवनिर्वाचित जिला अध्यक्षों की सूची जारी की गई है.